love jihad: यासरखान पठान ने विदेश में पढ़ाई का झांसा दिया, पूरे परिवार ने किया बलात्कार

ये लव जिहाद है और हिंदू लड़कियों के लिए जद्दोजहद है. जिनके साथ बलात्‍कार, शोषण, कत्‍ल और ना जाने क्‍या-क्‍या होता है. लव जिहाद का एक मामला अब गुजरात में सामने आया है. जहां आरोपी यासरखान पठान ने हिंदू लड़की को विदेश में पढ़ाई का झांसा देकर फंसाया और पठान के घर वालों ने लड़की के साथ बलात्‍कार किया. पढ़‍िये लव जिहाद के फंदे में फंसी लड़की की कहानी.

love jihad: यासरखान पठान ने विदेश में पढ़ाई का झांसा दिया, पूरे परिवार ने किया बलात्कार
photo source: opindia (accused Yasarkhan Pathan )

विदेश भेजने का झांसा

देश में कड़े कानूनों के अस्तित्व में होने के बावजूद,  लव जिहाद देश के विभिन्‍न हिस्‍सों में भली भांति फल-फूल रहा है. मानों जिहादियों में कानून का कोई डर ही नहीं रहा. आए दिन दिल दहला देने वाले मामले सामने आते हैं. गुजरात में हाल ही एक मामले में नडियाद पुलिस ने एक हिंदू लड़की को विदेश भेजने की आड़ में फंसाने और फिर उसका शारीरिक और मानसिक शोषण करने के दस आरोपियों में से आठ को गिरफ्तार किया है. हालांकि इस केस में मुख्य अपराधी यासरखान पठान और उसका एक साथी अभी भी फरार है.

 

ऐसे खुला राज

लव जिहाद का यह मामला तब खुला जब पीड़‍िता ने अपने परिजनों को यासरखान पठान के जाल में फंसने के बाद हुए शारीरिक और मानसिक शोषण के बारे में बताया. बेटी की पीड़ा देखाकर परिवार वालों से रहा नहीं गया, वे आरोपी यासरखान और उसके परिवार वालों के खिलाफ शिकायत लेकर नडियाद पुलिस के पास पहुंच गए. जहां पीड़िता के परिवार के सदस्यों ने यासरखान पठान और नौ अन्य लोगों जाबिरखान पठान (आरोपी के पिता), फैजलखान पठान (आरोपी का भाई), शहनाज खान पठान (आरोपी की मां), सुरैयाखान पठान, फरदीन खान सैयद, फरीदबानु मालेक, नदीम मालेक, जय कदम और एक अन्य व्यक्ति के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई.

 

पांच लाख रुपए भी ऐंठे

रिपोर्ट्स के मुताबिक आरोपी यासरखान पठान (24 साल) की पीड़ित हिंदू लड़की से 2020 में सोशल मीडिया पर मुलाकात हुई थी. इसके बाद दोनों में बातचीत बढ़ी और वे मिलने लगे. लड़की शेड्यूल कास्‍ट से है, वह यहां से अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद विदेश में नर्सिंग की पढ़ाई करना चाहती थी. आरोपी यासरखान ने इसका पूरा फायदा उठाया और लड़की को बहला-फुसलाकर विदेश भेजने का वादा किया. यासरखान ने पीड़‍िता से झूठ बुलवाकर उसके परिजनों से 5 लाख रुपये भी मंगवा लिए. इसके बाद युवती का दुबई का वीजा लेकर उसे अकेले ही भेज दिया, क्योंकि यासरखान को वीजा नहीं मिला था. दुबई में रहने के बाद लड़की ने वापस आने की मांग की. करीब पंद्रह दिन बाद आरोपी ने उसे नडियाद लाकर किराए के मकान में रखा.

 

पठान के परिवार वालों ने किया बलात्‍कार

आरोप है कि यासरखान के परिवार वाले भी नडियाद में उसी घर में रहते थे. जहां यासरखान की अनुपस्थिति में उसके परिवार के सदस्यों ने कथित तौर पर पीड़िता का शारीरिक शोषण किया. साथ ही उन्होंने कथित तौर पर उसे बुर्का पहनने और कुरान पढ़ने के लिए मजबूर किया. यासरखान और उसके परिवार वालों के अत्याचारों से तंग आकर लड़की अपने माता-पिता के पास वापस चली गई, लेकिन परिवार वाले उसको स्वीकार करने को तैयार नहीं थे. मगर जब पीड़िता ने उन्हें अपने द्वारा सहे गए शारीरिक और मानसिक शोषण के बारे में बताया, तो वे उन्‍होंने बेटी को अपना लिया. इसके बाद पीड़‍िता के माता-पिता ने नडियाद टाउन थाने में शिकायत दर्ज कराई.

 

गहने गिरवी रखकर दिए थे पांच लाख

पीड़िता के माता-पिता के मुताबिक आरोपी युवक यासरखान ने उनसे झूठ बोला था, कि उनकी बेटी पोलैंड में है. उसने पीड़िता के पिता को फोन पर टिकट भी दिखाया था, जो नकली था. यासरखान ने पहले ही लड़की को सब बातें बता रखी थीं कि उसे अपने परिजनों से क्‍या कहना है, ताकि रुपए ऐंठ लिए जाएं. जब लड़की द्वारा अपने माता-पिता को पोलैंड जाने की बात बताई गई तो उन्होंने गहने गिरवी रखकर 5 लाख रुपये का इंतजाम किया. महिला ने कथित तौर पर अपनी सोने की चेन भी बेच दी थी. शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने विभिन्न टीमों का गठन कर मामले की जांच शुरू की. जिसमें आठ आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि दो अन्य की तलाश की जा रही है.