Ghaziabad: स्कूल न जाना पड़े, इसलिए जेल जाना चाहता था, दोस्त की हत्या कर दी

गाजियाबाद. मसूरी थाना क्षेत्र से हैरान करने वाला मामला सामने आया है. क्लास दस का एक छात्र पढ़ना नहीं चाहता था. स्कूल जाने से उसे चिढ़ थी. उसे लगा कि जेल चला जाए, स्कूल नहीं जाना पड़ेगा. इसलिए उन्हें अपने ही स्कूल के कक्षा के एक स्टूडेंट की हत्या कर दी. पुलिस ने किशोर को हिरासत में ले लिया है.

Ghaziabad: स्कूल न जाना पड़े, इसलिए जेल जाना चाहता था, दोस्त की हत्या कर दी
कान्सेप्ट फोटो.

छात्र का शव सोमवार को दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे डीएमई पर पड़ा मिला. मसूरी थाना क्षेत्र में रहने वाले एक श्रमिक का 13 वर्षीय पुत्र छठी कक्षा का छात्र था, उसके पड़ोस में 10वीं क्लास का छात्र रहता था. बताया जाता है कि सोमवार की शाम करीब चार बजे 10वीं का छात्र अपने दोस्त छठी क्लास के छात्र संग खेलने गया था. तभी उसने डीएमई के पास ले जाकर उसका गला दबा दिया और फिर भाग निकला. मौके पर पहुंचे लोगों ने बेहोश छात्र को डासना के अस्पताल में भर्ती कराया, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. वहीं देर शाम पुलिस ने आरोपी 10वीं के छात्र को पकड़ लिया.

पुलिस पूछताछ में आरोपी छात्र ने बताया कि उसके माता-पिता उसे जबरन स्कूल भेजते थे, जबकि वह पढ़ना नहीं चाहता था. उसने अपने दोस्त की हत्या इसलिए की क्योंकि उसे पता था कि इस क्राइम के बाद उसे जेल हो जाएगी और उसे पढ़ना नहीं पड़ेगा. वहीं इस मामले पर एसपी देहात डॉ. ईरज राजा का कहना है कि आरोपित छात्र को पकड़ लिया गया है. आारोपित को बाल सुधार गृह भेजा जाएगा. पुलिस के मुताबिक आरोपित ने पूर्व में ही छात्र की हत्या की साजिश रच ली थी. छात्र की कद-काठी कमजोर होने का उसने फायदा उठाया और उसे अपने निशाने पर रखा. वह डीएमई के पास उसे खेलने के लिए ले जाता था. असल में उसका इरादा हत्या करने का था. वह दो बार पहले भी हत्या का इरादा बनाकर उसे साथ ले गया था. लेकिन वहां कोई न कोई आ जाता था. इसके चलते वह हत्या नहीं कर पाया. फिर उसे कल शाम चार बजे मौका मिला और उसने उसका गला दबा दिया.