स्‍कूल मास्‍टर मुजाहिद का कारनामा, जिस स्‍कूल में पढ़ाता है उसी को बेच डाला, अधिकारियों ने संभाला मोर्चा तो बचा स्‍कूल

मुरादाबाद से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है. जहां एक स्‍कूल के मास्‍साब ने बच्‍चों के भविष्‍य की जमीन को ही बेचकर अपना घर भरने की ठान ली थी. मामला ये है कि जिस स्‍कूल में ये मास्‍साब पढ़ाते हैं इन्‍होंने उसी स्‍कूल को बेचने की तैयारी कर ली थी. लेकिन इससे पहले पूरा स्‍कूल बिक जाता मामला अधिकारियों के दरबार में पहुंच गया.

स्‍कूल मास्‍टर मुजाहिद का कारनामा, जिस स्‍कूल में पढ़ाता है उसी को बेच डाला, अधिकारियों ने संभाला मोर्चा तो बचा स्‍कूल
photo sources: media

30 हजार में बेचा सरकारी स्‍कूल का कमरा

मुरादाबाद में सामने आए एक टीचर के कारनामे ने विभाग की नींद उड़ा दी है. जहां मुरादाबाद के एक स्‍कूल में टीचर मुजाहिद हुसैन पर आरोप है कि उसने उस स्‍कूल के एक कमरे को ही बेंच दिया, जहां वह बच्चों को पढ़ाया करता था. यह चौंकाने वाला पूरा मामला कुंदरकी ब्लॉक के गांव पीतपुर नैयाखेड़ा का है. बताया जाता है कि स्कूल के टीचर मुजाहिद हुसैन ने प्राथमिक स्कूल में निर्मित एक्स्ट्रा क्लासरूम को तीस हजार रुपये बेच दिया.

 

 

खरीदार ने तुड़वाकर शुरू किया निर्माण

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार मास्‍टर मुजाहिद हुसैन से स्‍कूल का कमरा खरीदने वाले व्यक्ति ने उसे आनन-फानन तुड़वाकर अपना आशियाना बनाने की तैयारी भी कर ली थी. लेकिन जब इस बात की शिकायत खंड शिक्षा अधिकारी तक पहुंची तो वह भी इस मास्‍टर के कारनामे देखकर दंग रह गए. उन्होंने फौरन मौके पर पहुंचकर घटना की जांच की और मामले को सही पाते हुए इसकी रिपोर्ट वरिष्ठ अधिकारियों को सौंप दी. बताया जा रहा है कि स्कूल का क्लासरूम खरीदने वाले शख्स ने आननफानन में क्लासरुम को ढहा कर वहां निर्माण कार्य भी शुरू कर दिया था.

 

धीरे-धीरे बेच देता पूरा स्‍कूल

बताया जाता है कि मुजाहिद हुसैन के हौसले इस कदर बुलंद हैं कि उसने स्कूल का दूसरा क्लासरूम भी बेचने की तैयारी कर ली थी. इसी बीच गांव के प्रधान मोहसिन अख्तर ने इसकी शिकायत ब्लॉक एजुकेशन ऑफिसर से कर दी. गुरुवार को खंड शिक्षा अधिकारी विष्णु ने गांव पहुंच कर मामले की जांच पड़ताल शुरू की, जिसमें आरोपित मुजाहिद के खिलाफ सभी आरोप सही पाए गए. इसके आधार पर खंड शिक्षा अधिकारी ने अपनी जांच रिपोर्ट बीएसए को सौंप दी. प्रधान का आरोप है कि क्लास रूम की बिक्री करने वाला अध्यापक अक्सर विद्यालय से गायब रहता है. इसकी शिकायत भी कई बार अधिकारियों से की गई थी.

 

करता रहता है कारनामे

आरोपित टीचर के बारे में बताया जाता है कि कमिश्‍नर सहित कई सीनियर ऑफिसर के आदेश पर आरोपित का वेतन भी काटा जा चुका है. स्कूल के दूसरे शिक्षकों का भी आरोप है कि मुजाहिद हुसैन अक्सर बिना बताए कई दिनों तक स्कूल से गायब रहता है. उसे कई बार हिदायत भी दी गई लेकिन, उस पर कोई असर नहीं हुआ. स्‍कूल के कमरे को बेचने को लेकर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी बौद्ध प्रिय सिंह का कहना है की खंड शिक्षा अधिकारी के माध्यम से मामला उन तक पहुंचा है. आरोप सिद्ध पाए गए हैं. इस तरह के लोगो की वजह से शिक्षा विभाग बदनाम होता है. इस मामले में कड़ी कार्रवाई की जाएगी.