अब चीन के राकेट ने दुनिया को टेंशन में डाला, पृथ्वी की ओर बढ़ रहा मलबा, कहीं भी गिर सकता है

वाशिंगटन. चीन के एक राकेट का मलबा बेकाबू होकर तेजी से पृथ्वी की ओर बढ़ रहा है. यह कहां गिरेगा, अभी वैज्ञानिक ये कहने की स्थिति में नहीं है. अंतरिक्ष में टुकड़ों में बंट गए चीनी राकेट के मलबे का सबसे बड़ा हिस्सा तीस मीटर का है. यह किसी भी शहर में तबाही ला देने के लिए काफी है.

अब चीन के राकेट ने दुनिया को टेंशन में डाला, पृथ्वी की ओर बढ़ रहा मलबा, कहीं भी गिर सकता है
concept pic

चीन ने दी एक और टेंशन

चीन दुनिया को रोज नए तनाव देता रहता है. चीन से फैली कोविड महामारी से अभी तक दुनिया उबर नहीं सकी है. हालांकि इसमें चीन मासूम बना रहा, लेकिन इस बात को लेकर कई विशेषज्ञ आशंका जता चुके हैं कि यह चीन का जैविक हथियार था. अब इसी चीन ने दुनिया को नई टेंशन में डाल दिया है. चीन का एक राकेट अंतरिक्ष में कई हिस्सों में बंट गया है. इसका मलबा पृथ्वी की ओर आ रहा है.

 रविवार को छोड़ा गया था अंतरिक्ष में

यह अंतरिक्ष दुर्घटना चीन की तमाम हरकतों की तरह संदेह पैदा कर रही है. रविवार को अपने स्पेस मिशन के तहत चीन ने राकेट लांच किया था. पृथ्वी की कक्षा में पहुंचते-पहुंचते ये राकेट भटक गया. इस राकेट के कई टुकड़े हो गए. यह ऐसी दुर्घटना है, जिससे चीन को कोई नुकसान नहीं हुआ है. क्योंकि रहस्यमयी तरीके से इस राकेट का मॉड्यूल सुरक्षित है. यही अंतरिक्ष की कक्षा में स्थापित किया जाता है. बाकी लांचर के कई टुकड़े हो गए. एस्ट्रोनॉमर जोनाथन मैकडोवेल ने कहा है कि यह राकेट कब और कहां गिरेगा, इसका अंदाजा लगाना मुश्किल है. लेकिन यह मलबा जहां भी गिरेगा वहां भारी तबाही मचा सकता है.

जहां गिरेगा, बहुत तबाही मचाएगा

साइंस एवं तकनीक पोर्टल गिजमोडो से बातचीत में अंतरिक्ष यात्री मैकडोवेल ने बताया कि यह अंदाजा इस समय नहीं लग पा रहा है कि यह राकेट कहां गिरेगा. यह फिलहाल कक्षा में अनियंत्रित होकर खतरनाक तरीके से चक्कर लगा है. इस पर दुनिया भर की स्पेस एजेंसी नजर रखे हुए हैं. इसके दो ही विकल्प बचते हैं. या तो इस मलबे का रुख मोड़ा जाए या फिर इसके कुछ और टुकड़े कर दिए जाएं. इस समय इस मलबे की रफ्तार कई सौ किलोमीटर प्रति घंटा है. अगर यह इस रफ्तार से पृथ्वी से टकराया, तो काफी तबाही मचा सकता है. वैज्ञानिक इसी कोशिश में लगे हैं कि इसके मलबे को भी किसी महासागर की ओर मोड़ दिया जाए.