सीरियल किलरः 50 लड़कियों से संबंध, तीन का कत्ल... और जुबान पर जय हिंद

असल में वो एक हत्यारा था. अब तक तीन लड़कियों की हत्या कर चुका था. एक शौक था, एक ही जुनून था... बस ज्यादा से ज्यादा लड़कियां चाहिए...

सीरियल किलरः 50 लड़कियों से संबंध, तीन का कत्ल... और जुबान पर जय हिंद
साइको किलर विक्रांत की फर्जी सैन्य अधिकारी वाली फोटो. फोटो- सोशल मीडिया

एक साइको किलर...

जिसने पचास से ज्यादा लड़कियों को अपने प्रेमजाल में फंसाया, संबंध बनाए....

कभी आर्मी अफसर बनकर, तो कभी इनकम टैक्स का अधिकारी बनकर अपने शिकार की तलाश में निकलता था वो. झांसे के लिए उसकी डीपी पर कभी आर्मी तो कभी टैक्स अफसर की वर्दी में फोटो होती थी. फोन पर बात करो, तो वह किसी अफसर की तरह अभिवादन में कहता था जय हिंद...

लेकिन असल में वो एक हत्यारा था. अब तक तीन लड़कियों की हत्या कर चुका था. एक शौक था, एक ही जुनून था... बस ज्यादा से ज्यादा लड़कियां चाहिए. उसका शिकार बनने वाली लड़कियां 18 से 25 साल की उम्र की हैं. सोशल मीडिया पर ज्यादा एक्टिव रहने वाली लड़कियां उसके जाल में फंसती थीं. शातिर इतना कि कत्ल के बाद लाश को रेलवे लाइन पर डाल देता था. जिससे कत्ल एक हादसा बनकर रह जाए..

गिरफ्तार हुआ तो बैग से खुला राज

उसका ये खेल सालों से चल रहा था. लेकिन राजस्थान पुलिस ने उसे भिवाड़ी से गिरफ्तार कर लिया. करधनी थाना पुलिस ने दो दिन पहले 35 वर्षीय विक्रम उर्फ मिंटू को भिवाड़ी से गिरफ्तार किया. दो महीने पहले रोशनी नाम की युवती की हत्या के मामले की जांच के दौरान वह पकड़ में आया. उसके बैग में कई फोटो मिले हैं, जिनमें कुछ में वह सेना की वर्दी और कुछ में पुलिस की वर्दी में नजर आ रहा है. भिवाड़ी में वह पुलिस अफसर बनकर रह रहा था. पुलिस ने जब उसे गिरफ्तार किया, तो उसके बैग से पचास से ज्यादा लड़कियों के फोटोग्राफ्स मिले. देखकर सब हैरान. इतनी लड़कियों के फोटो क्यों. पूछताछ हुई, तो पुलिस की भी आंखें खुली रह गईं. विक्रम ने बताया कि ये सब उसकी प्रेमिकाएं रह चुकी हैं. सभी लड़कियां 18 से 25 साल की उम्र के बीच थीं. वह कभी सेना का अधिकारी बन जाता, तो इनकम टैक्स का. उसने ड्रेस में फोटो खिंचा रखे थे. डीपी पर ऐसे फोटो लगाता कि देखते ही किसी को भी एतबार आ जाता कि वह कोई अधिकारी है. जिन लड़कियों ने उसकी बात नहीं मानी या उसका मन भर गया, उनका उसने कत्ल कर दिया. अभी तक विक्रम तीन कत्ल की वारदात कबूल कर चुका है. लाश को ठिकाने लगाने के लिए वह उसे रेलवे लाइन पर डाल देता था.  

रोशनी की लाश ठिकाने नहीं लगा पाया, फंस गया

जिस वारदात के सिलसिले में विक्रम कानून की गिरफ्त में आया, वह उसने जयपुर में अंजाम दी थी. पुलिस के मुताबिक विक्रम और रोशनी की मुलाकात एक होटल में हुई थी. विक्रम ने उसे प्रेम जाल में फंसा लिया. दोनों जयपुर में करीब एक साल तक लिव-इन में रहे. रोशनी वेश्यावृति से जुड़ी हुई थी. दोनों कुछ समय उत्तर प्रदेश के हरदोई में भी रहे. पांच महीने पहले वे दोनों जयपुर के करधनी इलाके में आकर रहने लगे. विक्रम ने रोशनी को वेश्यावृति और होटल में रात की ड्यूटी से रोका, लेकिन वह नहीं मानी. आखिरकार एक रात विक्रम ने मुंह पर तकिया रखकर उसकी हत्या कर दी. विक्रम फरार हो गया. लोगों ने लाश दो दिन बाद घर से बरामद की. विक्रम को असल में यहां रोशनी की लाश को ठिकाने का मौका न मिला. पुलिस के पास उसकी शिनाख्त का हर जरिया था और आखिरकार ये सीरियल किलर वारदात के दो माह बाद पुलिस की गिरफ्त में आ गया.

मध्य प्रदेश की पूजा भी बनी शिकार

उसकी एक अन्य शिकार की शिनाख्त ग्वालियर के गोला मंदिर इलाके की पूजा शर्मा (24 वर्ष) के रूप में हुई है. पूजा पढ़ाई के लिए अपने भाई के साथ जीजा के यहां रह रही थी. एक दिन अचानक लापता होने के बाद पुलिस में उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई गई. इस कत्ल की वारदात को अंजाम देना भी मिंटू उर्फ विक्रांत ने कबूल कर लिया है. राजस्थान के बाद अब मध्य प्रदेश पुलिस भी उससे पूछताछ कर रही है. पुलिस को उम्मीद है कि कई और वारदातों का खुलासा हो सकता है.