वीडियो वायरल: हैदराबाद में मुस्लिम युवती से शादी करने वाले दलित युवक को मोबिन और मसूद ने सरेराह मार डाला

हैदराबाद में एक दलित युवक ने मुस्लिम युवती से शादी की थी. जिससे युवती के परिजन और मजहबी लोग नाखुश थे. फिर इसी नाखुशी के चलते युवती के परिजनों ने युवक को सरेराह धारदार हथियार से मौत के घाट उतार दिया. अपने पति को बचाने आई उसकी पत्‍नी भी इस हमले में घायल हो गई. इस वारदात का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

वीडियो वायरल: हैदराबाद में मुस्लिम युवती से शादी करने वाले दलित युवक को मोबिन और मसूद ने सरेराह मार डाला
photo sources: twitter

मुस्लिम लड़की से शादी नागवार गुजरी

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार तेलंगाना के हैदराबाद में एक दलित युवक द्वारा मुस्लिम युवती से शादी करना मजहबी लोगों को नागवार गुजरा, और नागाराजू नाम के दलित युवक की सरेराह युवती के परिजनों ने धारदार हथियार से हत्‍या कर दी. हत्या की वजह नागराजू का मुस्लिम लड़की सैयद अशरीन से शादी करना बताया जा रहा है. नागाराजू की हत्या सरूर नगर थानाक्षेत्र के तहसीलदार ऑफिस के सामने की गई है. हत्‍या के आरोप में पुलिस ने युवक की पत्‍नी अशरीन के भाई और जीजा को गिरफ्तार किया है. बाक़ी आरोपितों की तलाश की जा रही है.

 

वायरल वीडियो

सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में मृतक नागराजू (25) घायल बाइक के पास सड़क पर पड़ा हुआ दिखाई दे रहा है. वीडियो में आरोपित हमलावर हाथों में हथियार लिए हुए है और मृतक युवक की पत्नी अपने पति की जान बचाने की कोशिश में हथियार वाले आरोपी को पकड़ती दिख रही है. इसके बाद कुछ लोग हथियार लिए हुए युवक का विरोध करते नजर आ रहे है और इसके बाद हमलावर वहाँ से फरार हो जाते हैं.

लोहे की रोड और धारदार हथियार से मार डाला

बताया गया कि घटना की रात नागाराजू और पल्‍लवी (अशरीन) बाइक से सरूरनगर की तरफ जा रहे थे. जैसे ही दोनों तहसीलदार के ऑफिस के पास पहुँचे, तभी एक व्यक्ति ने उनका रास्ता रोक लिया और नागाराजू पर लोहे की रॉड से वार किए. इसके बाद नागाराजू पर धारदार हथियार से वार किए गए, जिसमें उसकी मौत हो गई. वहीं अपने पति को बचाने की कोशिश में पल्लवी (अशरीन) भी घायल हो गई. घटना स्‍थल पर मौजूद किसी ने इसकी वीडियो बना कर सोशल मीडिया पर वायरल कर की.

वीएचपी राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता ने उठाए सवाल

ऑपइंडिया के अनुसार VHP के राष्ट्रीय प्रवक्ता विनोद बंसल ने कहा कि 25 साल के दलित युवक को मोबिन और मसूद इसलिए मार डालते हैं, क्योंकि वो 23 साल की अशरीन से प्रेम करता था और उसने अशरीन से शादी की. विनोद बंसल ने मीम-भीम एकता की पैरवी करने वालों से भी सवाल किया है. रिपोर्ट के मुताबिक मृतक नागराजू सिकंदराबाद के एक कार शोरूम में सेल्समैन था. उसने 23 वर्षीया अशरीन से इसी साल 31 जनवरी को शादी की थी. शादी के बाद अशरीन का नाम पल्लवी हो गया था. मृतक के परिवार वालों का कहना है कि दोनों कॉलेज के समय से एक दूसरे से प्यार करते थे. इस शादी से दोनों परिवार खुश नहीं थे. इसी के चलते अशरीन और नागराजू को पुराने हैदराबाद के आर्य समाज मंदिर में 2 महीने पहले शादी करनी पड़ी थी.

ऑनर (हॉरर) किलिंग

हत्‍या के इस मामले की जाँच कर रही सरूरनगर पुलिस ने इसे ऑनर किलिंग बताया है. तेलंगाना से भाजपा विधायक टी राजा सिंह ने आरोपितों को तत्काल गिरफ्तार करने और कड़ी सजा देने की माँग की है. राजा सिंह ने कहा, “यह हमला अशरीन के परिवार वालों ने ही करवाया है या इसके पीछे किसी मज़हबी संस्था का हाथ है? क्या किसी संगठन ने हमलावरों को आर्थिक मदद की भी पेशकश की है? इन सभी पहलुओं की निष्पक्ष जाँच की जानी चाहिए.”

वहीं भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने इसे दिल्ली के अंकित सक्सेना जैसी घटना बताया. अंकित सक्सेना को भी मुस्लिम लड़की से प्यार और शादी करने के बाद दिल्ली में कत्ल कर दिया गया था. शहजाद ने सवाल किया, “क्या कभी मुस्लिम लड़के को हिन्दू लड़की से शादी के बाद परिवार द्वारा कत्ल किया गया है? अब इस मामले में क्या होना चाहिए? कांग्रेस, आप पार्टी, TMC, समाजवादी पार्टी, इस्लामोफोबिया के नाम पर संयुक्त राष्ट्र तक पहुँच गए, लेकिन हैदराबाद में हुई हिन्दू की हत्या सेक्युलर अपराध है? अब तक धर्मनिरपेक्ष खमोश हैं?”