स्‍वास्‍थ्‍य विभाग का आंदोलन रंग लाया, आगामी 10 दिनों के अंदर निरस्त होंगे अनियमित स्थानांतरण

यूपी में स्‍वास्‍थ विभाग के अंदर हुए अनियमित स्‍थानांतरण को लेकर मचे बवाल के बाद शासन बैकफुट पर आ गया है. जिसको लेकर राज्‍य कर्मचारी संयुक्‍त परिषद उत्तर प्रदेश द्वारा नीति विरुद्ध स्‍थानांतरण के खिलाफ आंदोलन चलाया गया. इस मामले में शनिवार को अवकाश होते हुए भी महानिदेशक चिकित्‍सा एवं स्वास्‍थ के साथ कर्मचारियों की मीटिंग हुई और उसमें आगामी दस दिनों के अंदर अनियमित स्‍थानांतरण निरस्‍त किए जाने का अश्‍वासन दिया गया.

स्‍वास्‍थ्‍य विभाग का आंदोलन रंग लाया, आगामी 10 दिनों के अंदर निरस्त होंगे अनियमित स्थानांतरण
file photo

गलत तरीके से किए गए थे तबादले

यूपी में स्‍वास्‍थ विभाग और पी‍डब्‍ल्‍यूडी में कर्मचारियों के स्‍थानांतरण के बाद मचे घमासान को लेकर उप प्रधानमंत्री ब्रजेश पाठक ने भी संज्ञान लिया था. जिसमें उन्‍होंने रिपोर्ट मांगी थी, वहीं स्वास्‍थ विभाग में डॉक्‍टरों और कर्मचारियों में हुए इन तबादलों को लेकर काफी रोष व्‍याप्‍त था. इस मामले में उपमुख्यमंत्री चिकित्सा स्वास्थ, परिवार कल्याण एवं चिकित्सा शिक्षा ब्रजेश पाठक के हस्तक्षेप के बाद सीएम आदित्‍यनाथ ने भी रिपोर्ट मांगी थी. अब इस मामले में राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद उत्तर प्रदेश द्वारा स्वास्थ विभाग में किये गये नीति विरुद्ध स्थानांतरण को लेकर चलाए जा रहे आंदोलन के सम्बंध में परिषद व संबधित संगठनों के पदाधिकारियों की महानिदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ के साथ बैठक हुई.

 

10 दिन में निरस्‍त हो जाएंगे तबादले

बताया गया कि शनिवार को हुई बैठक में पदाधिकारियों द्वारा पुनः त्रुटिपूर्ण स्थानांतरण की सूची महानिदेशक को सौंपी गई. बताया गया कि डीजी हेल्‍थ ने सभी पदाधिकारियों को आश्वस्त करते हुए निर्णय लिया कि नीति के विरुद्ध किए गए स्थानांतरण 10 दिन के अंदर निरस्त किए जाएंगे. सरकार स्‍वास्‍थ विभाग के कर्मचारियों की समस्याओं के प्रति गंभीर है और अन्य जो भी समस्याएं हैं उसे वार्ता के माध्यम से निस्तारण किया जायेगा. कहा गया कि वर्तमान परिवेश में प्रदेश की जनता कई संक्रामक रोगों से जूझ रही है ऐसे में उनकी देखभाल हमी सबको मिलकर करनी है. महानिदेशक ने पदाधिकारियों व कर्मचारियों से अपील की कि अगले आंदोलन को स्थगित कर दें.

बैठक में रखी अपनी बात

संगठन के महामंत्री अतुल मिश्रा ने बताया कि महानिदेशक के साथ हुई बैठक में स्वास्थ विभाग के डॉ. निरुपमा दीक्षित निदेशक पैरमेडिकल, डॉ. अनुपमा कटियार निदेशक डेंटल, डॉ. रागिनी गुप्ता निदेशक नर्सिंग, डॉ. आर.सी. पाण्डेय एडी मलेरिया एवं डा सोमेंद्र नाथ जेडी कुष्ठ रोग मौजूद रहे. बताया गया कि सभी पदाधिकारियों ने बैठक कर आंदोलन को 10 दिन के लिए स्थगित करने का निर्णय लिया है. वहीं बैठक में अध्यक्ष सुरेश रावत, महामंत्री अतुल मिश्रा, डीपीए के महामंत्री उमेश मिश्रा, ऑप्टोमेट्रिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष जीएम सिंह सहित सभी लोगों ने अपनी बात रखी. इसके बाद ही आगे का निर्णय लिया गया.