Shocking: नौकरी के नाम पर बलात्‍कार, रस्‍सी से बांधकर दूसरी मंजिल से नीचे फेंका, बिजली के पोल पर लटकी

राजस्‍थान के चूरू में असम की एक युवती से दरिंदंगी की दिल दहला देने वाली वारदात सामने आई है। दरिंदों ने युवती के साथ पहले गैंग रेप किया और फिर उसको रस्‍सी से बांधकर दूसरी मं‍जिल से नीचे फेंक दिया। गनीमत रही कि रस्‍सी बिजली के पोल में अटक गई और युवती खंबे से लटक गई। वारदात की जानकारी के बाद पहुंची पु‍लिस ने युवती को नीचे उतारा और अस्‍पताल में भर्ती कराया।

Shocking: नौकरी के नाम पर बलात्‍कार, रस्‍सी से बांधकर दूसरी मंजिल से नीचे फेंका, बिजली के पोल पर लटकी
concept pic

दरिंदगी की हदें पार 

राजस्‍थान में कांग्रेस कहती है “लड़की हूं लड़ सकती हूं” लेकिन यहां लड़कियों को लड़ने लायक ही नहीं छोड़ा जा रहा। आए दिन लड़कियों से दरिंदगी की दिल दहला देने वाली घटनाएं सामने आती हैं। अब एक नई सनसनीखेज वारदात से राजस्‍थान में लड़कियों की सुरक्षा पर सवाल खड़े हो गए हैं। चूरू जिला मुख्यालय के धर्मस्तूप पुलिस चौकी से चंद कदमों की दूरी पर दिल्‍ली की रहने वाली एक 25 वर्षीय युवती से 4 लोगों ने गैंगरेप (Gang rape) किया। गैंग रेप करने के बाद आरोपियों ने शराब के नशे में दरिंदगी (Cruelty) की सारी हदें पार कर दीं। युवती को रस्सी से बांधकर दूसरी मंजिल की खिड़की से बाहर फेंक दिया। गनीमत रही की रस्सी बिजली के पोल में उलझ कर अटक गई। जिसके बाद करीब दो घंटे तक युवती बिजली के पोल से लटकी रही। सूचना पर पहुंची पुलिस ने युवती को नीचे उतारा और उसे स्थानीय डेडराज भरतीया अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उसका इलाज चल रहा है।

दरिंदगी में स्‍कूल टीचर भी शामिल

पीडि़त युवती के बयानों के आधार पर महिला थाना पुलिस ने वारदात के संबंध में चूरू के इंद्रपुरा निवासी विक्रम सिंह, भवानी सिंह, देवेंद्र सिंह और चैनपुरा के बुल्ला उर्फ सुनील के खिलाफ आईपीसी की संगीन धाराओं में केस दर्ज किया है। बताया जा रहा है की आरोपी भवानी सिंह सरकारी स्कूल में टीचर है। पुलिस ने पीड़ित युवती का मेडिकल कराकर मामले में कार्रवाई तेज कर दी है, लेकिन अभी तक पु‍लिस के हाथ एक भी आरोपी नहीं लगा है। वहीं सरकारी स्‍कूल के टीचर भवानी सिंह के बारे में और जानकारी भी जुटाई जा रही है।

ये भी पढ़ें:-

Country's Biggest Scam: 28 बैंकों का 22,842 करोड़ का घोटाला, सीबीआई ने ABG शिपयार्ड के खिलाफ दर्ज किया मुकदमा

नौकरी का झांसा देकर किया रेप
पुलिस उपाधीक्षक ममता सारस्वत का कहना है कि पीड़िता 25 वर्षीय युवती मूलत: असम की रहने वाली है। वर्तमान में वह दिल्ली में काम कमाने के लिए रहती है, उसके मां व भाई असम ही रहते हैं। वह दिल्ली में छोटा-मोटा काम करके घर चलाती है। पीड़िता ने बताया कि चूरू निवासी सुनील उर्फ राजू ने उसे काम दिलाने का आश्वान देकर चूरू बुलाया था। सुनील के भरोसे पर काम के लिए वह शुक्रवार को चूरू आ गई थी। बस स्टैंड पर उसे कार सवार एक युवक लेने आया। उसने बताया कि राजू ने उसे लेने के लिये भेजा है। इस पर युवती कार में सवार होकर उसके साथ चली गई। युवक उसे एक कमरे में ले गया और कहा कि सुबह उसे काम दिलवा देंगे।

शराब पी और रेप किया
अस्‍पताल में भर्ती पीड़ित युवती ने पुलिस को बताया कि जिस कमरे में वह युवक उसे लेकर गया था वहा पहले से ही विक्रम राजपूत, भवानी सिंह, देवेन्द्र सिंह उर्फ बुल्ला और सुनील राजपूत चैनपुरा बड़ा मौजूद थे। इन सबने शराब पीना शुरू कर दिया। पीड़िता ने बताया कि जब उसने इन युवकों से काम दिलाने के लिए कहा तो आरोपी देवेन्द्र सिंह ने धमकाते हुए कहा कि तुझे काम नहीं दिलाएंगे। उसके बाद उसने उससे रेप किया, इसके बाद विक्रम और अन्य युवकों ने भी उसके साथ रेप किया। बलात्कार के बाद चारों युवकों ने किसी बात को लेकर आपस में झगड़ा शुरू कर दिया।

ये भी पढ़ें:-

Hijab row: क्या हिजाब सिर्फ गरीब की लड़की के लिए है

काफी देर लटकी रहे

युवती ने बताया कि आरोपियों ने रेप करने के बाद रस्सी से उसके हाथ-पैर बांध दिए और मकान की दूसरी मंजिल की खिड़की से धक्का दे दिया, लेकिन उसके हाथ में बंधी रस्सी बिजली के खम्भे में अटकने से वह खंभे के साथ लटक गई और उसकी जान बच गई। बताया कि वह काफी देर तक खंभे पर उसी हालत में लटकी रही। बाद में किसी तरह से उसने पुलिस को सूचना दी। इस पर पुलिस वहां पहुंची और उसे नीचे उतारकर इलाज के लिए भर्ती करवाया।