आमिर खान बोले भगवान शिव हैं मेरे आराध्य, कई सालों से करता आ रहा हूं उनकी पूजा

दिल्ली के आमिर खान ने हिंदू धर्म में वापसी कर ली. आमिर के पूर्वज भी सनातनी ही थे. त्यागी महासभा के अध्यक्ष धर्मेन्द्र त्यागी ने आमिर को अपना गोत्र दिया और आमिर का नाम अभय त्यागी हो गया.

आमिर खान बोले भगवान शिव हैं मेरे आराध्य, कई सालों से करता आ रहा हूं उनकी पूजा

स्वेच्छा से कई मुसलमान हिंदू धर्म में अपनी वापसी कर रहे हैं. ये वो लोग हैं जिनके पूर्वज कभी हिंदू थे और उनका धर्म परिवर्तन कराया गया था. इस बार दिल्ली के कर्दमपुरी निवासी आमिर खान ने हिंदू धर्म अपनाया है. आमिर ने एक महायज्ञ में शामिल होकर अपनी इच्छा जाहिर की. जिसके बाद आमिर की हिंदू धर्म में वापसी हुई. गौरतलब है कि गुलाम नबी आजाद ने कुछ दिन पहले ही कहा था कि मेरे पूर्वज हिंदू हैं.

 

देश की राजधानी दिल्ली से सटे यूपी के क्षेत्र के लोनी तिराहा स्थित रामलीला मैदान में रविवार को एक महायज्ञ आयोजित किया गया. जिसमें अपनी इच्छा से कर्दमपुरी के रहने वाले आमिर खान ने सनातन धर्म अपनाने को कहा. इस पर भाजयुमो जिलाध्यक्ष हिमांशु शर्मा ने चंदन का टीका लगाकर पटका पहनाया और त्यागी महासभा के अध्यक्ष धर्मेंद्र त्यागी ने आमिर खान का नामकरण अभय त्यागी किया.

 वसीम रिजवी भी हैं मिसाल

गौरतलब है कि पिछले कई सालों से अपनी बेबाकी के चलते लगातार चर्चा में रहे शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी ने इस्लाम को अलविदा कहकर हिंदू धर्म अपना लिया था. इसके साथ ही उन्होंने अपना नाम जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी रखा था. कुछ महीने पहले गाजियाबाद में यति नरसिंहानंद सरस्वती ने सनातन धर्म में उनकी वापसी करवाई थी. इस मौके पर वसीम रिजवी ने कहा था कि मुझे इस्लाम से बाहर कर दिया गया है,  हमारे सिर पर हर शुक्रवार को इनाम बढ़ा दिया जाता है, ऐसे में मैं सनातन धर्म अपना रहा हूं.

 10 अप्रैल को होगा जनेऊ धारण संस्कार

इस बाबत त्यागी महासभा अध्यक्ष धर्मेन्द्र त्यागी ने बताया कि सनातन कुंडीय महायज्ञ संपन्न होने के बाद दिल्ली के कर्दमपुरी निवासी युवक आमिर खान ने स्वेच्छा से सनातन धर्म अपनाने की इच्छा जताई. उन्होंने बताया कि वह अविवाहित हैं और वेल्डिंग का कार्य करता हैं. उनके पूर्वज भी सनातनी ही थे इसलिए हिंदू धर्म में पहले से ही आमिर की आस्था थी. आमिर के आराध्य भगवान शिव हैं जिनकी वो पिछले कई सालों से पूजा-अर्चना करता आ रहा है. जब आमिर को एक बार और सोच लेने को कहा गया तो आमिर ने बोला कि वो बिना किसी दबाव के सनातन धर्म को अपनाना चाहता है. त्यागी महासभा के अध्यक्ष धर्मेन्द्र त्यागी ने आमिर का नाम बदलकर अभय त्यागी रखा और अभय को अपना गोत्र भी दिया. अभय की कानूनी औपचारिकताओं को पूरा करने के लिए उसके कागजात मंगाए गए हैं, जब सारी कागजी कागजी कार्रवाई पूरी हो जाएगी तब आने वाली 10 अप्रैल को पूरे विधि-विधान से मंदिर में अभय का जनेऊ संस्कार कराकर हिंदू धर्म में शामिल किया जाएगा.